blogid : 321 postid : 1377407

2017 के वो 5 विवादित बयान, जिनसे चढ़ा सियासी गलियारों का पारा

Posted On: 31 Dec, 2017 Politics में

Avanish Kumar Upadhyay

  • SocialTwist Tell-a-Friend

2017 अलविदा कहने वाला है और 2018 स्‍वागत करने के लिए तैयार है। कोई इस साल की कड़वी यादों को भुलाकर नई शुरुआत करने की तैयारी में है, तो कोई पुराने साल की अच्‍छी यादों को संजोने की कोशिशों में लगा है। 2017 ने सियासी गलियारों में भी खूब हलचल मचाई। चुनाव से लेकर बयानों तक के कारण देश की राजनीति और राजनेता सुर्खियों में बने रहे। वहीं, कुछ राजनेताओं ने ऐसे विवादित बयान भी दिए, जिनसे सियासी गलियारों का पारा चढ़ गया। आइये आपको बताते हैं 2017 के पांच बड़े विवादित बयानों के बारे में, जिस पर जमकर बवाल हुआ।


politics C


साक्षी महाराज


sakshimahraj


भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने एक ऐसा बयान दिया, जिस पर सियासी घमासान मच गया। उन्‍होंने मेरठ में एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बात करते हुए कहा कि देश में समस्‍याएं खड़ी हो रही हैं जनसंख्‍या के कारण, उसके लिए हिंदू जिम्‍मेदार नहीं है, जिम्‍मेदार वो थे जो चार बीवी और 40 बच्‍चों की बात करते हैं। साक्षी महाराज का बयान ऐसे वक्त पर आया था, जब उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक थे।


शरद यादव


sharad yadav


जनता दल के पूर्व नेता शरद यादव उस वक्त सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने कहा था कि बेटी की इज्जत से भी वोट की इज्जत बड़ी है, बेटी की इज्जत जाएगी तो गांव व मोहल्ले की इज्जत जाएगी, वोट एक बार बिक गया तो देश की इज्जत जाएगी और आने वाला सपना पूरा नहीं हो सकता है। शरद यादव ने यह बयान बिहार में पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए जनवरी में दिया था।


आजम खान


azam khan


इस साल ताजमहल को लेकर भी विवाद हुआ था। इसी विवाद को लेकर एक बयान पर पलटवार करते हुए सपा नेता आजम खान ने एक और विवादित बयान दिया था, जो काफी दिनों तक सुर्खियों में रहा। उन्होंने कहा था कि मैंने तो पहले ही कहा है कि अकेले ताजमहल ही क्यों संसद भवन, राष्ट्रपति भवन, कुतुब मीनार, लाल किला और आगरे का किला क्यों नहीं। ये सब गुलामी की निशानी हैं। गुलामी की उन तमाम निशानियों को मिटा देना चाहिए, जिससे कल के शासकों की बू आती हो।


तेज प्रताप यादव


tej pratap


लालू की सुरक्षा में कटौती किए जाने पर उनके बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने प्रधानमंत्री के खिलाफ ऐसा बयान दिया, जिससे सियासी गलियारों का पारा बढ़ गया। केंद्र सरकार द्वारा लालू की सुरक्षा में कटौती किए जाने के सवाल पर तेज प्रताप ने मीडिया से कहा कि हम लोग के कई कार्यक्रम लगे हुए हैं। लालू प्रसाद यादव जी भी जाते रहते हैं कार्यक्रमों में, तो ये मर्डर कराने की साजिश रची जा रही है। उनको मुंहतोड़ जबाव हम देंगे। नरेंद्र मोदी जी का खाल उधड़वा लेंगे।


मणिशंकर अय्यर


Manishankar


गुजरात में चुनावी सरगर्मियों के बीच साल के आखिरी महीने में मणिशंकर अय्यर का एक ऐसा विवादित बयान आया, जिससे सियासी भूचाल आ गया। प्रधानमंत्री मोदी के बारे में विवादित बयान देकर मणिशंकर अय्यर सुर्खियों में रहे। उन्होंने पीएम मोदी को गुजरात चुनाव से ठीक पहले नीच कह दिया था। उन्होंने कहा था कि एक व्यक्ति जोकि लगातार अंबेडरक व नेहरूजी के सपने को पूरा करने के लिए काम कर रहा है। उस परिवार के बारे में गलत बात करना, मुझे लगता है कि ये नीच आदमी है, उसे बात करने की तमीज नहीं है, इस समय में इस तरह की बात करने की क्या जरूरत थी। अय्यर के बयान के बाद कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था…Next


Read More:

हिमाचल प्रदेश के नए मुख्‍यमंत्री की पत्‍नी हैं डॉक्‍टर, दिलचस्‍प है इनकी लव स्‍टोरी
2017 में ट्विटर पर इन सितारों का जलवा, अनुष्‍का का ये ट्वीट बना ‘गोल्‍डन ट्वीट ऑफ द ईयर’
TV के वो 6 सितारे, जिन्‍होंने 2017 में दुनिया को कहा अलविदा



Tags:                                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran