blogid : 321 postid : 1374502

पानी, खेत, सड़क पर उतर सकता है 25 करोड़ का सी-प्लेन, पीएम भी कर चुके हैं सफर

Posted On: 14 Dec, 2017 Politics में

Shilpi Singh

  • SocialTwist Tell-a-Friend

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद में साबरमती नदी से मेहसाना जिले के धरोई बांध तक सी-प्लेन में सफर किया। यहां पहुंचकर उन्होंने अंबाजी में मां अंबा के दर्शन किये थे। यह पहला मौका है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में किसी सीप्लेन से सफर किया हो। बता दें कि भारत सरकार छोटे शहर और ग्रामीण इलाकों को आपस में जोड़ने के लिए सी प्लेन विकल्प ला रही है। ऐसे में चलिए आखिर क्या है इस सी-प्लेन की खासियतें।



cover plane


25 करोड़ रूपए का है सी प्लेन

सी प्लेन विकल्प के तहत स्पाइस जेट जापान की सेतोची होल्डिंग्स के साथ मिलकर 10 और 12 सीटों के पानी और जमीन पर उतरने वाले प्लेन का ट्रायल कर रही हैं। हाल ही में मुंबई की गिरगांव चौपाटी पर सीप्लेन का ट्रायल किया था। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो एक सी प्लेन की कीमत करीब 4 मिलियन डॉलर यानि करीब 25 करोड़ रूपए है। स्पाइस जेट जापान से 100 सीप्लेन खरीदने वाला है।



narendra-modi-1




339 किमी प्रति घंटा

इस सीप्लेन की ख़ास बात यह है कि ये प्लेन दो फीट पानी में तो लैंड कर ही सकता था। साथ ही खेत और रोड पर भी इसे आसनी से उतारा जा सकता है। Quest kodiak 100 मॉडल के इस प्लेन की टॉप स्पीड 339 किमी प्रति घंटा है। यह केवल 300 मीटर के रन वे टेक ऑफ़ ले सकता है।



se plane



भारत का सबसे पहला सी प्लेन अंडमान निकोबार आयलैंड में उड़ता है

इसका वजन 700 किलो है, जबकि इसकी क्षमता 1110 किलो तक है। बताया जा रहा है कि एक बार में इस प्लेन में 10 लोग सफर कर सकते हैं। भारत का सबसे पहला सी प्लेन ‘जल हंस’ अंडमान निकोबार आयलैंड के बीच उड़ता है। 2010 में प्रफुल पटेल ने सिविल एविएशन मंत्री रहते हुए इसे लॉन्च किया था।



Sea01


सरकार उड़ान प्रोजेक्टके तहत शुरू करेगी कई योजना

मालूम हो कि सरकार उड़ान प्रोजेक्ट के तहत पहले चरण में 32 स्थानों पर सी प्लेन शुरू करने की योजना बना रही है. वहीं, दूसरे चरण में 80 स्थानों को इस योजना से जोड़ा जाएगा। माना जा रहा है कि इस योजना से लोग देश के कोने-कोने से जुड़ पाएंगे। फिलहाल मालदीव और ऑस्ट्रेलिया जैसे देश अपने टूरिस्ट को सी प्लेन के जरिये सफ़र करने की सुविधा दे रहे हैं।…Next


Read More:

दादी इंदिरा के नक्‍शे कदम पर राहुल गांधी, करने लगे हैं यह काम!
संसद हमले के 16 साल: कारगिल युद्ध के ढाई साल बाद बॉर्डर पर फिर आमने-सामने हो गए थे भारत-पाक

कभी राष्‍ट्रपति का घोड़ा बनना चाहते थे प्रणब मुखर्जी! जानें क्‍यों कहा था ऐसा

दादी इंदिरा के नक्‍शे कदम पर राहुल गांधी, करने लगे हैं यह काम!

संसद हमले के 16 साल: कारगिल युद्ध के ढाई साल बाद बॉर्डर पर फिर आमने-सामने हो गए थे भारत-पाक



Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Tata Motors के द्वारा
December 15, 2017

Guj model is Gandhiji ka CHARKHA , e-charkha and solar-powered charkha ! new car model Tigor …


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran