blogid : 321 postid : 1370038

सरकारी अफसरों से भी कम है राष्ट्रपति की सैलरी, ये है वजह

Posted On: 23 Nov, 2017 Politics में

Shilpi Singh

  • SocialTwist Tell-a-Friend

देश में सबसे ज्यादा किसी पद की गरिमा है, तो वो है राष्ट्रपति का पद। प्रधानमंत्री से भी ज्यादा बड़ा कद राष्ट्रपति का होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे राष्ट्रपति की सैलरी कितनी है। अक्सर लोगों को यही लगता है कि राष्ट्रपति की सैलरी लाखों में होगी, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति की सैलरी लाखों में नहीं है। देश के इन सर्वोच्च पदों पर बैठी शख्सियतों की सैलरी उनके पद के मुकाबले बहुत ही कम है, तो चलिए चलिए जानते हैं आखिर कितनी है इनकी सैलरी।

cover

राष्ट्रपति को अधीनस्थ अफसरों से भी कम सैलरी मिलती है

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति यहां तक कि राज्यों के राज्यपालों को अपने अधीनस्थ अफसरों से भी कम सैलरी मिलती है। महामहिमों की सैलरी कम होने की वजह भी तकनीकी है। दरअसल, गृह मंत्रालय ने साल भर पहले ही सैलरीज बढ़ाने का मसौदा तैयार किया था। गृह मंत्रालय ने ये मसौदा यूनियन कैबिनेट को मंजूरी के लिए भेजा है। पीटीआई के मुताबिक, इस पर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया जा सका है।


President


राष्ट्रपति को इतने लाख मिलती है सैलरी

वर्तमान में राष्ट्रपति को 1.50 लाख रुपये प्रति माह, उप-राष्ट्रपति को 1.25 लाख रुपये प्रति माह और गवर्नर को 1.10 लाख रुपये प्रतिमाह सैलरी मिलती है। खास बात ये है कि 7वें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू होने के बाद देश के सर्वोच्च नौकरशाह यानी कैबिनेट सेक्रेटरी को 2.5 लाख रुपये प्रतिमाह और केंद्र सरकार के सेक्रेटरी को 2.25 लाख रुपये प्रतिमाह सैलरी देने का प्रावधान है।


ram-nath-kovind


सेना के सुप्रीम कमांडर से भी कम है सैलरी

बता दें कि हमारे देश में राष्ट्रपति ही सेना के सुप्रीम कमांडर भी होते हैं। लेकिन राष्ट्रकति की वर्तमान सैलरी, तीनों सेना प्रमुखों से कम है। क्योंकि इन तीनों सेना प्रमुखों को कैबिनेट सेक्रेटरी के समकक्ष यानी ढाई लाख रुपये प्रति माह सैलरी मिलने का प्रावधान है। अब जब केंद्रीय कैबिनेट, गृह मंत्रालय के सैलरी बढ़ाने के प्रपोजल को हरी झंडी देगी तभी इससे संबंधित बिल को संसद में रखा जाएगा।


Kovind1



बढ़ सकती है राष्ट्रपति की सैलरी

नए प्रपोजल के तहत राष्ट्रपति की सैलरी 5 लाख, उप-राष्ट्रपति की सैलरी 3.5 लाख और गवर्नर की सैलरी 3 लाख रुपये प्रति माह तक बढ़नी है। इससे पहले राष्ट्रपति, उप-राष्‍ट्रपति और गवर्नर की सैलरी 2008 में बढ़ाई गई थी। 2008 तक राष्ट्रपति को 50 हजार, उप-राष्‍ट्रपति को 40 हजार और गवर्नर को 36 हजार प्रति माह सैलरी दी जा रही थी।…Next


Read More:

टीचर पर आया था बिहार के सीएम नीतीश का दिल, की थी इंटरकास्ट मैरिज

कोई खेलता है क्रिकेट तो किसी को पसंद है स्विमिंग, जानें खाली वक्त में क्या करते हैं ये राजनेता

रामनाथ कोविंद या मीरा कुमार जानें कौन करेगा राष्ट्रपति की लग्जरी कार की सवारी, इतने करोड़ है कीमत



Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran