blogid : 321 postid : 1367486

प्लेन भेजकर नेहरु ने मंगवाई थी ये खास सिगरेट, लंदन में धुलते थे उनके कपड़े

Posted On: 14 Nov, 2017 Politics में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भारत के पहले प्रधानमंत्री और छोटे बच्चों में चाचा के नाम से मशहूर पंडित जवाहर लाल नेहरू सबसे प्रभावशाली नेताओं में गिने जाते हैं। नेहरू को भोपाल शहर से बेहद लगाव था। मध्यप्रदेश और पंडित नेहरू का नाता गहरा था। इस प्रदेश का नामकरण खुद नेहरू ने किया था। साथ ही उस दौर के नेता शंकरदयाल शर्मा नेहरू के नजदीकी थे, ऐसे में नहेरू अक्सर भोपाल आते-जाते रहते थे। जब वो पीएम थे तब उन्होंने करीब 18 बार भोपाल का दौरा किया था।


भोपाल में इस महल में रूकते थे नेहरू
नेहरू जब भी भोपाल के दौरे पर होते तो वो किसी सरकरी आवास में नहीं बल्कि भोपाल नवाब के चिकलोद स्थित कोठी पर रुकते थे. ये वही कोठी है जिसपर पटौदी खानदान कई सालो से केस लड़ रहा है. ये जगह भोपाल से करीब 30 किलोमीटर दूर है.
प्रोटोकॉल तोड़कर कोठी में रूकते थे नेहरू
भोपाल के दौरे पर नेहरू जब भी आते वो प्रोटोकॉल तोड़कर अकेले उस कोठी में रहना पंसद करते थे. दरअसल इस कोठी की खास बात थ कि ये शहर से दूर और शांत जगह पर थी साथ ही जंगलो के बीच में होने के कारण यहां का नजारा अलग होता था इसलिए नेहरु यहीं रूकते थे.
सिगरेट लेने भेजा गया विमान
नेहरू भोपाल के दौरे पर थे और उन्हें खाने के बाद सिगरेट पीने की आदत थी लेकिन उनकी सिगरेट खत्म हो गई थी ऐसे में तुंरत एक खास विमान भेजा गया जो नेहरू के लिए सिगरेट लेकर आया. कहा जाता है वो पहले दिन भर में 20-25 सिगरेट पी जाते थे,हालांकि बाद में उन्होंने कम कर दी
Read:
200 किमी भेजा गया विमान
नेहरू उस दौर में 555 सिगरेट ही पीते थे लेकिन वो भओपाल में नहीं थी ऐसे में भोपाल से इंदौर एक विशेष विमान भेजा गया. इंदौर एयरपोर्ट पर सिगरेट के कुछ पैकेट पहुंचाए गए और विमान सिगरेट के पैकेट लेकर वापस भोपाल लौट आया. इस घटना का जिक्र मप्र राजभवन की वेबसाइट पर है.
लंदन से धुलकर आते थे नेहरु के कपड़े
जवाहरलाल नेहरू के पिता पंडित मोतीलाल नेहरू उस जमाने में देश के नामीगिरामी लोगों में शुमार थे. नेहरू जी के दादा पंडित गंगाधर नेहरु दिल्ली में कोतवाल थे और पिता इलाहाबाद में जाने मानें वकील थे. नेहरु एक अच्छे परिवार से आते थे कहा जाता है कि मोतीलाल नेहरू और जवाहर लाल नेहरू के कपड़े तक विदेश में धुलने जाते थे.
लंदन में पढ़े हैं नेहरु
नेहरु अपने पिता के अकेले बेटे थे ऐसे में नेहरु का बचपन बेहद आराम से बीता. उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा हैरो से और कॉलेज की शिक्षा ट्रिनिटी कॉलेज, लंदन से पूरी की थी. इसके बाद उन्होंने अपनी लॉ की डिग्री कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से पूरी की थी…Next
Read More:

neharu plane




भोपाल में इस कोठी में रूकते थे नेहरू

कहा जाता है जब नेहरू भोपाल के दौरे पर होते तो, वो किसी सरकरी आवास में नहीं बल्कि भोपाल नवाब के चिकलोद स्थित कोठी पर रुकते थे। ये वही कोठी है जिसपर पटौदी खानदान कई सालोंं से केस लड़ रहा है।  यह जगह भोपाल से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर है।




kothi nehru


प्रोटोकॉल तोड़कर कोठी में रूकते थे नेहरू

भोपाल के दौरे पर नेहरू जब भी आते तो वो प्रोटोकॉल तोड़कर अकेले इस कोठी में रहना पसंंद करते थे। दरअसल इस कोठी की खास बात ये थी कि ये शहर से दूर और शांत जगह पर थी। साथ ही जंगलोंं के बीच में होने के कारण यहां का नजारा अलग होता था, इसलिए नेहरू यहीं रुकते थे।


Pandit-Jawaharlal-Nehru

सिगरेट लेने भेजा गया विमान

नेहरू भोपाल के दौरे पर थे और उन्हें खाने के बाद सिगरेट पीने की आदत थी, लेकिन उनकी सिगरेट खत्म हो गई थी। ऐसे में तुरंत एक खास विमान भेजा गया, जो पीएम नेहरू के लिए सिगरेट लेकर आया। कहा जाता है वो पहले दिनभर में 20-25 सिगरेट पी जाते थे, हालांकि बाद में उन्होंने कम कर दी।



nehru pandit



200 किमी भेजा गया विमान

नेहरू उस दौर में 555 ब्रांड की ही सिगरेट पीते थे लेकिन वो सिगरेट भोपाल में नहीं मिल रही थी। ऐसे में भोपाल से इंदौर एक विशेष विमान भेजा गया। इंदौर एयरपोर्ट पर सिगरेट के कुछ पैकेट पहुंचाए गए और विमान सिगरेट के पैकेट लेकर वापस भोपाल लौट आया।



nehru02


लंदन से धुलकर आते थे नेहरू के कपड़े

जवाहरलाल नेहरू के पिता पंडित मोतीलाल नेहरू उस जमाने में देश के नामी गिरामी लोगों में शुमार थे। नेहरू जी के दादा पंडित गंगाधर नेहरू दिल्ली में कोतवाल थे और पिता इलाहाबाद में जाने माने वकील थे। नेहरू एक अच्छे परिवार से आते थे, कहा जाता है कि मोतीलाल नेहरू और जवाहर लाल नेहरू के कपड़े तक लंदन में धुलने जाते थे।



nehru1


लंदन में पढ़े हैं नेहरू

नेहरू अपने पिता के अकेले बेटे थे, ऐसे में नेहरू का बचपन बेहद आराम से बीता। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा हैरो से और कॉलेज की शिक्षा ट्रिनिटी कॉलेज, लंदन से पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने अपनी लॉ की डिग्री कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से पूरी की थी।…Next


Read More:

अपने क्षेत्र के लोगों के साथ झोपड़ी में ही रहता है इस विधायक का पूरा परिवार

तनख्वाह के रुप में 1 रुपए लेते हैं मुंबई के ये नए कमिश्नर

राष्ट्रपति पद के लिए कलाम नहीं ये थे वाजपेयी सरकार की पहली पसंद




Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran