blogid : 321 postid : 1352045

केजरीवाल ही नहीं इन नेताओं ने भी IIT से की है पढ़ाई, पूर्व रक्षा मंत्री भी हैं इनमें शामिल

Posted On: 10 Sep, 2017 Politics में

Avanish Kumar Upadhyay

  • SocialTwist Tell-a-Friend

राजनीति एक ऐसा क्षेत्र है, जहां कम पढ़े लिखे लोगों से लेकर आईआईटियन तक धाक जमा चुके हैं। वैसे आईआईटियन पॉलिटिशियन की बात होती है, तो जुबान पर तुरंत अरविंद केजरीवाल का नाम आता है। लगभग सभी को पता है कि अरविंद केजरीवाल आईआईटी से पढ़े हुए हैं। मगर क्‍या आपको पता है कि इनके अलावा भी कई पॉलिटिशियन हैं, जो आईआईटी के छात्र रह चुके हैं और राजनीति में एक मुकाम हासिल किया है। आइये जानते हैं आईआर्इटियन पॉलिटिशियन के बारे में।


arvind kejriwal


अरविंद केजरीवाल : दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल आईआईटियन हैं। उन्‍होंने 1989 में आईआईटी खड़गपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्‍नातक की उपाधि प्राप्‍त की। राजनीति में आने से पहले केजरीवाल भारतीय राजस्‍व सेवा में अधिकारी थे।


manohar parrikar


मनोहर पर्रिकर : गोवा के मुख्‍यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर आईआईटी मुंबई के छात्र रह चुके हैं। उन्‍होंने सन् 1978 में आईआईटी मुंबई से मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की। पर्रिकर देश के पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं, जो आईआईटी से स्‍नातक हैं। उन्हें सन् 2001 में आईआईटी मुंबई द्वारा विशिष्ट भूतपूर्व छात्र की उपाधि प्रदान की गई थी।


jairam ramesh


जयराम रमेश : कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और अर्थशास्‍त्री जयराम रमेश भी आईआईटी बॉम्‍बे के छात्र रह चुके हैं। राज्‍यसभा सदस्‍य जयराम रमेश ने आईआईटी बॉम्‍बे से 1975 में मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक की परीक्षा पास की है।


sudhindra kulkarni


सुधीन्‍द्र कुलकर्णी : सुधीन्‍द्र कुलकर्णी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्कसिस्‍ट) के पूर्व सदस्‍य हैं। कुलकर्णी भी आईआईटी बॉम्बे के पूर्व  छात्र हैं। 1996 में ये भाजपा में शामिल हो गए थे। 2009 में इन्‍होंने भाजपा छोड़ दी। फिलहाल ये ऑब्‍जर्वर रिसर्च फाउंडेशन के प्रमुख हैं।


ajit singh


अजीत सिंह : राष्‍ट्रीय लोक दल के संस्‍थापक और अध्‍यक्ष अजीत सिंह ने भी आईआईटी खड़गपुर से बीटेक किया है। अजीत सिंह‍ पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पुत्र हैं।


alok agrawal


आलोक अग्रवाल : मध्‍यप्रदेश में आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल ने आईआईटी कानपुर से केमिकल इंजीनियरिंग में बीटेक किया है। नर्मदा बचाओ आंदोलन में आलोक ने सक्रिय भूमिका निभाई है।


Read More:

राजकुमारी जो बनीं देश की पहली महिला कैबिनेट मंत्री, एम्‍स की स्‍थापना में थी प्रमुख भूमिका
दुनिया की 48 प्रतिशत आबादी वाला ग्रुप है BRICS, जानें BRIC से कैसे बना BRICS
मोदी कैबिनेट में ‘आधी आबादी’ का वर्चस्‍व, ये हैं कैबिनेट में शामिल महिला मंत्री



Tags:                             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran