blogid : 321 postid : 1346706

49 दिन में दिल्ली की सत्ता छोड़ने वाले केजरीवाल की ऐसी है लव स्टोरी

Posted On: 17 Aug, 2017 Politics में

Shilpi Singh

  • SocialTwist Tell-a-Friend

राजनीति में बदलाव का चेहरा कहे जाने वाले अरविंद केजरीवाल आजकल खबरों से दूर हैं. राजनीति में केजरीवाल को भले ही कम समय हुआ हो, लेकिन उन्हें देखकर यह नहीं कहा जा सकता कि वे राजनीति के कच्‍चे खिलाड़ी हैं. आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का जन्म 16 अगस्त 1968 को हरियाणा के हिसार में हुआ था. सीधे-साधे नौकरीपेशा केजरीवाल आखिर कैसे बने दिल्ली के सीएम और हमसफर के साथ कैसा है उनका रिश्ता, चलिए जानते हैं.


cover kejriwal


सरकारी नौकरी में थे केजरीवाल

साल 1992 में केजरीवाल भारतीय नागरिक सेवा (आईसीएस) के एक भाग, भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) में आए और उन्हें दिल्ली में आयकर आयुक्त (Income tax commissioner) नियुक्त किया गया. नौकरी के दौरान ही उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग शुरू कर दी.


arvind-kejriwal



2006 में दे दिया इस्तीफा

जनवरी 2000 में केजरीवाल ने अपने काम से दूरी बनाई और दिल्ली आधारित एक नागरिक आन्दोलन ‘परिवर्तन’ की स्थापना की, जो एक पारदर्शी और जवाबदेह प्रशासन को सुनिश्चित करने के लिए काम करता है. इसके बाद फरवरी 2006 में उन्होंने नौकरी से इस्तीफा दे दिया और फुल टाइम के लिए ‘परिवर्तन’ में काम करने लगे.


Arvind

राजनीति में आंदोलन के जरिए रखा कदम

अन्ना हजारे के साथ मिलकर उन्होंने आंदोलन को हर घर तक पहुंचाया. उन्होंने 2 अक्टूबर 2012 को ही अपने भावी राजनीतिक दल का दृष्टिकोण पत्र भी जारी किया. आम आदमी पार्टी के गठन की आधिकारिक घोषणा अरविंद केजरीवाल और लोकपाल आंदोलन के बहुत से सहयोगियों द्वारा 26 नवम्बर 2012 को भारतीय संविधान अधिनियम की 63वीं वर्षगांठ के अवसर पर दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पर की गई.



Anna-Arvind



पहली बार 49 दिन सीएम रहे केजरीवाल

28 दिसम्बर 2013 में पहली बार केजरीवाल दिल्‍ली के मुख्यमंत्री बने, लेकिन उनका कार्यकाल मात्र 49 दिन का रहा. 14 फरवरी 2014 को केजरीवाल ने मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया.



Delhi-CM



2015 में दोबारा बने मुख्यमंत्री

अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में फरवरी 2015 के दिल्‍ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 में से रिकॉर्ड 67 सीटें जीतकर भारी बहुमत हासिल किया. 14 फरवरी 2015 को वे दोबारा दिल्ली के मुख्यमंत्री पद पर आसीन हुए.



kejriwall


आईआरएस की ट्रेनिंग से शुरू हुई लव स्टोरी

अरविंद-सुनीता केजरीवाल की लव स्टोरी की शुरुआत IRS की ट्रेनिंग के दौरान हुई. जब केजरीवाल ट्रेनिंग के लिए पहुंचे, तो वहां उनकी मुलाकात सुनीता से हुई. वे भी वहां ट्रेनिंग के लिए आई थीं.



arvind kejriwal


1994 में दोनों ने की शादी

ट्रेनिंग के दौरान दोनों एक-दूसरे को पसंद करने लगे, फिर एक दिन ट्रेनिंग एकेडमी के गार्डन में दोनों ने एक-दूसरे को अपना हसफर बनाने की बात कही. ट्रेनिंग पूरी करने से पहले ही नवंबर 1994 में दोनों की शादी हुई.



kejriwal-

1995 में ट्रेनिंग पूरी होने के बाद दोनों दिल्ली आए और तब से यहीं रह रहे हैं. शादी के एक साल बाद बेटी हर्षिता और 2001 में बेटे पुलकित का जन्म हुआ. बाद में केजरीवाल ने नौकरी छोड़कर राजनीति की ओर रुख कर लिया…Next


Read More:

सुब्रह्मण्‍यम स्वामी से लेकर सचिन पायलट तक, कुछ ऐसी है इन नेताओं की लव स्टोरी

कोई खेलता है क्रिकेट तो किसी को पसंद है स्विमिंग, जानें खाली वक्त में क्या करते हैं ये राजनेता

रामनाथ कोविंद या मीरा कुमार जानें कौन करेगा राष्ट्रपति की लग्जरी कार की सवारी, इतने करोड़ है कीमत

सुब्रह्मण्‍यम स्वामी से लेकर सचिन पायलट तक, कुछ ऐसी है इन नेताओं की लव स्टोरी
कोई खेलता है क्रिकेट तो किसी को पसंद है स्विमिंग, जानें खाली वक्त में क्या करते हैं ये राजनेता
रामनाथ कोविंद या मीरा कुमार जानें कौन करेगा राष्ट्रपति की लग्जरी कार की सवारी, इतने करोड़ है कीमत


Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran