blogid : 321 postid : 873

Rajiv Gandhi: राजीव गांधी के जीवन की अहम बातें

Posted On: 20 Aug, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Rajiv Gandhi

आज देश में कांग्रेस की हर तरह आलोचना हो रही है. हर दिन कई घोटाले सामने आ रहे हैं और इन सबके बीच कांग्रेस नेता यह मानने को तैयार ही नहीं कि उनकी पार्टी इसके लिए दोषी है. शायद कांग्रेस अपने युग पुरुष राजीव गांधी के कथनों को भूल गई है. लेकिन आज के दिन तो उन्हें किसी भी हालात में राजीव गांधी भूले नहीं होंगे क्यूंकि आज राजीव गांधी की जयंती है.


राजीव गांधी भारतीय राजनीति और कांग्रेस के इतिहास में ऐसे नेता रहे हैं जिन्होंने शायद सबसे पहले किसी सार्वजनिक मंच पर खुद सरकार में होते हुए सरकार में फैले भ्रष्टाचार पर अंगुली उठाई. देश में सरकारी घोटालों की असलियत को खुद अपने मुंह से स्वीकारने वाले युवा और कर्मठ नेता राजीव गांधी की आज जयंती है. आज चाहे कांग्रेस सरकार कितने ही घोटालों से घिरी हो लेकिन कांग्रेस के राज में कभी कमान राजीव गांधी जैसे नेता के हाथ में भी थी जिन्होंने अपने अल्पकाल के शासन में ही देश को ढेरों सपने दिखाए.


Rajiv Gandhi and his life

स्वर्गीय इंदिरा गांधी और फिरोज गांधी के बेटे, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी की आज 67वीं जयंती है. 20 अगस्त, 1944 को जन्में राजीव गांधी का पूरा नाम राजीव रत्न गांधी था. 3 जून, 1980 को राजीव के छोटे भाई संजय गांधी की दुर्घटना में मृत्यु हुई तब उन्होंने अपनी मां को सहयोग देने के लिए राजनीति में प्रवेश किया. वहीं 1984 में मां की हत्या ने उन्हें पूर्ण रूप से कांग्रेस के प्रति समर्पित नेता बना दिया.


rajiv-sonia-happy-daysकैसे हुआ राजीव गांधी और सोनिया गांधी का विवाह

राजीव गांधी ने कैम्ब्रिज के ट्रिनिटी कॉलेज और लंदन के इम्पीरियल कॉलेज से उच्च शिक्षा हासिल की थी.

विदेश प्रवास के दौरान ही 1965 में सोनिया माइनो से उनकी मुलाकात हुई जिनसे माइनो परिवार के शुरुआती विरोध के बावजूद उन्होंने 28 फरवरी, 1968 को विवाह किया। सोनिया माइनो (पूरा नाम एंटानियो एडविग एलबिना माइनो Antonia Edvige Albina Maino) को ही लोग सोनिया गांधी के नाम से आज जानते हैं. हालांकि सोनिया गांधी को इंदिरा गांधी भी ज्यादा पसंद नहीं करती थीं लेकिन बेटे संजय गांधी की पत्नी मेनका गांधी से विवाद के बाद इंदिरा गांधी को सोनिया गांधी की तरफ रहना ही सही लगा.


राजीव गांधी और बोफोर्स कांड

उनका शासन काल कई आरोपों से भी घिरा रहा जिसमें बोफोर्स घोटाला सबसे गंभीर था, बोफोर्स तोपों से जुड़ा था. कहा जाता है कि स्वीडन की हथियार कंपनी बोफोर्स ने भारतीय सेना को तोपें सप्लाई करने का सौदा हथियाने के लिये 80 लाख डालर की दलाली चुकाई थी. उस समय केन्द्र में कांग्रेस की सरकार थी और प्रधानमंत्री राजीव गांधी थे. स्वीडन की रेडियो ने सबसे पहले 1987 में इसका खुलासा किया था.


Rajiv Gandhiराजीव गांधी का निधन

श्रीलंका में चल रहे लिट्टे और सिंघलियों के बीच युद्ध को शांत करने के लिए राजीव गांधी ने भारतीय सेना को श्रीलंका में तैनात कर दिया. जिसका प्रतिकार लिट्टे ने तमिलनाडु में चुनावी प्रचार के दौरान राजीव गांधी पर आत्मघाती हमला करवा कर लिया. 21 मई, 1991 को सुबह 10 बजे के करीब एक महिला राजीव गांधी से मिलने के लिए स्टेज तक गई और उनके पांव छूने के लिए जैसे ही झुकी उसके शरीर में लगा आरडीएक्स फट गया. इस हमले में राजीव गांधी की मौत हो गई.


यह था सफर भारतीय राजनीति से सबसे युवा प्रधानमंत्री और देश में संचार क्रांति के जनक राजीव गांधी के जीवन का. राजीव गांधी ने निर्विवाद रूप से एक आदर्श नेता की छवि प्रस्तुत की है जिसका देश सदैव ऋणी रहेगा.


Tag: Rajiv Gandhi Biography, Rajiv Gandhi Assassination , Rajeev Gandhi Prime Minister India ,Rajiv Ghandi History, Rajiv Gandhi and Sonia Gandhi Marriage



Tags:             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.33 out of 5)
Loading ... Loading ...

7 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

ved के द्वारा
February 10, 2014

ye desh kisi AUR RAHUL GANDHI KO NAHI JHEL SAKTA …..AUR HAAN MUJHE AAJ TAK NAHI PATA CHALA K WO SAHEED KAB HUA??

upendra kumar के द्वारा
December 9, 2013

Rahul gandhi jee jaisa neta ab India me dosra nahi hoga. Hme Rahul gandhi jee se prerna leni chahiye ke Rahul jaisa hme bhi banna chahiye Dhan hai vo bhum jha Rahul gndhi jee jaise amar saheed paida hote hai

upendra kumar के द्वारा
December 9, 2013

Rahul gandhi is great son of mother land I like very much Rahul gandhi

Devansh Paliwal के द्वारा
November 27, 2013

इन तरह की कहाननी  मैने आज जिदगी मे पहली बार पडी आज मेरा जीवन धनय़ हो गया है। Ii liked it very much , it was very intresting and knowdgeable. Thank you Name- Devansh Paliwal Class- 9(A)

    Devansh Paliwal के द्वारा
    November 27, 2013

    good

DHARAMSINGH के द्वारा
August 26, 2012

इस परिवार मे संजय को छोड सब गदार थे व हैं। जवाहर लाल से लेकर राउल विन्सी तक  यहां तक किगान्धी भी वरना डोमीनियन स्टेट की पैरवी क्यो करता  नेहरू को गदी क्यो मुसलमान क्यो रखे ये गदारो का टोल है गदी चाहिए देस से क्या लेना 

pitamberthakwani के द्वारा
August 21, 2012

महोदय,सब जानते हैं की राजीव जी राजनीति में आना ही नहीं चाहते थे तभी तो कहा गया है की— जो राजनीती में जाना नहीं चाहते, वो शहीद हो जाते हैं, जो जाना चाहते है ,वो जा नहीं पाते और जो चले जाते है, वो आना नहीं चाहते! यही है भारत की राजनीति!


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran